A huge collection of 3400+ free website templates JAR theme com WP themes and more at the biggest community-driven free web design site
loading...

loading...

पापा के दोस्त ने मारी गांड – Desi Hindi Chudai Kahani

Papa ke dost ne mari gaand:

anal fuck kahani हैल्लो दोस्तों, कैसे हैं आप सब ? मैं आशा करती हूँ कि आप सभी अच्छे होंगे और सभी चुदाई भरे काम बहुत ही कुशलमंगल तरीके से हो रहे होंगे | मेरा नाम आशी है और मैं डोंगरी की रहने वाली हूँ | मेरी उम्र 22 साल है और मैंने हाल ही में अपना ग्रेजुएशन कम्प्लीट किया है | मैं दिखने में गोरी हूँ और मेरी हाईट 5 फुट 5 इंच है | मेरे शरीर की बनावट इस तरह है जैसे मछली हो | अक्सर मेरी फ्रेंड्स मेरी बॉडी देख कर सोचती हैं कि काश उनका बॉडी शेप भी मेरे शरीर की तरह होता | दोस्तों मैं इस साईट में नयी हूँ और मुझे इस साईट के बारे में कुछ सर्च करने के दौरान पता चला था | आज जो मैं आप लोगो के सामने अपनी कहानी प्रस्तुत करने जा रही हूँ ये मेरी पहली कहानी है और मैं इस कहानी को मजेदार बनाने के लिए कुछ कुछ लाइन बेबुनियाद लिख रही हूँ | मैं उम्मीद करती हूँ कि आप सभी को मेरी कहानी पसंद आयगी | तो अब मैं आप लोगो का ज्यादा समय बर्बाद नहीं करते हुए अपनी कहानी शुरू करती हूँ |

दोस्तों, मेरे घर में मैं हूँ और मेरे मम्मी पापा हैं | मेरे पापा दुबई में जॉब करते हैं और बहुत कम ही घर आ पाते हैं | मम्मी को खालीपन दूर करना था तो उन्होंने भी एक स्कूल में जॉब करने के बारे में सोचा | कॉलेज के ख़त्म होने के बाद मैं भी घर में बोर होती तो मैंने सोचा कि यार मैं भी कहीं जॉब कर लेती हूँ पर फिर मैंने सोचा कि खाली नहीं छोड़ना चाहिए घर | एक दिन की बात है मेरे पापा के दोस्त घर आये हुए थे और सन्डे का दिन था तो मम्मी भी घर में ही थी | मम्मी और अंकल बात कर रहे थे तो मम्मी ने मुझे आवाज दे कर बुलाया | मैंने उस समय एक स्लीवलेस टॉप और मिनी स्कर्ट पहने हुई थी | जब मैं हॉल में गई तो अंकल मुझे घूर घूर कर देखने लगे | मुझे उनका देखना अच्छा लगा पर मैंने कुछ कहा नहीं | मम्मी ने मुझसे कहा कि बेटा अंकल के लिए चाय बना कर ले आओ | तो मैंने कहा ठीक है मम्मी और फिर किचिन में चाय बनाने आ गई | जब मैं चाय बना कर देने गई मैंने एक कप मम्मी को दिया और एक कप जब अंकल को देने लगी तो अंकल मेरे हाँथ को छुआ | पहली बार किसी गैर मर्द का स्पर्श मुझे एक अजीब से सिहरन दे गया | उन अंकल की उम्र लगभग 39 साल होगी और उनका नाम परेश है | वो एक दम फिट हैं और खुद को मेन्टेन करने के लिए जिम भी जाते हैं | मैं चाय देने के बाद तुरंत ही अपने कमरे में आ गई और दरवाजा लगा कर अपनी चूत में ऊँगली डाल कर सहलाने लगी | मुझे पता ही नहीं चल रहा था कि अचानक मुझे बस एक स्पर्श से ऐसा क्या हो गया कि मैं उत्तेजित हो गई | जब मेरी चूत का रस्खलन हों गया तब जा कर मुझे शांति मिली | कुछ देर बाद जब मैं नीचे गई तब तक अंकल जा चुके थे | फिर मैं टीवी देखने लगी | एक दिन मैं नहा कर छत पर बाल सुखा रही थी और मम्मी तो स्कूल गई हुई थी | उस समय मैंने टॉप और शॉर्ट्स पहने हुई थी | तभी दरवाजे की घंटी बजी | मुझे लगा शायद मेरी कोई फ्रेंड ही होगी पर जब मैंने झाँक कर देखा तो ये परेश अंकल थे | मैं सोचने लगी कि ये इस टाइम पर क्यू आये हैं ? मैंने ऊपर से ही अंकल को आवाज दे कर कहा कि रुकिए अंकल मैं आती हूँ | मैंने नीचे जा कर दरवाजा खोला और उन्हें नमस्ते कहा | उन्होंने भी प्यार से नमस्ते किया और कहा बेटा तुम तो बहुत प्यारी लग रही हो | मैंने थैंक यू बोलते हुए अन्दर आने के लिए कहा | उन्होंने मुझसे पूछा कि बेटा मम्मी नहीं हैं क्या ? तो मैंने कहा कि नहीं अंकल मम्मी अभी स्कूल में होंगी और उन्हें काफी समय हैं घर आने में |

ये बात सुन कर उनकी आँखों में एक अलग सी चमक आ गई और हवस की वासना साफ़ नजर आ रही थी | मैंने अंकल से कहा मैं पानी ले कर आती हूँ | मैं किचिन में पानी लेने गई तो वो मेरे पीछे आ कर खड़े हो गए और मुझे पीछे से ही पकड़ लिया | मैं कुछ समझ पाती उतने में ही उन्होंने मुझे दिवार पर टिका दिया | मैंने उनसे कहा अंकल आप ये क्या कर रहे हैं ? छोड़िये मुझे ! पर उन्होंने मुझे नहीं छोड़ा तो मैं चिल्लाने लगी | पर उन्होंने मेरे मुंह में हाँथ रख दिया | मैं चिल्ला भी नहीं पा रही थी और अपनी बेतोड़ कोशिश कर रही थी कि छूट जाऊं | पर उनकी पकड़ इतनी मजबूत थी तो मैं हार मान कर रह गई | मैंने भी अब सोच लिया कि कितना भी कोशिश कर लूं पर इनकी पकड़ से छूट पाना मुश्किल है | मैंने उनको सौंप दिया खुद को | जब वो समझ गए कि मैं अब कुछ नहीं कर रही हूँ तो उन्होंने मेरे मुंह से अपना हाँथ हटा कर अपने होठ लगा कर किस करने लगे | मैंने भी उनका साथ दिया और किस करने लगी | अब अंकल की हिम्मत बढ़ गई और वो मेरे मासूम होंठो को चूस रहे थे बड़ी बेरहमी से | फिर अंकल ने मेरे टॉप को उतार दिया और ब्रा के ऊपर से ही मेरे दूध को दबाने लगे तो मेरे मुंह से आअहाआ ऊउम्म्म्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अआहा आआहा ऊउम्म्ह ऊउंह आहा हाआआअ की सिस्कारिया निकलने लगी | फिर उन्होंने मेरे ब्रा को भी उतार कर मुझे ऊपर से पूरा नंगा कर दिया |

उसके बाद उन्होंने मेरे दूध को अपने मुंह में ले कर चूसने लगे तो मैं आअहाआ ऊउम्म्म्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अआहा आआहा ऊउम्म्ह ऊउंह आहा हाआआअ करते हुए सिस्कारिया लेने लगी | अब मुझे भी मजा आने लगा था | वो जोर जोर से मेरे दूध को भींचते हुए चूस रहे थे और मैं आअहाआ ऊउम्म्म्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अआहा आआहा ऊउम्म्ह ऊउंह आहा हाआआअ करते हुए सिस्कारियां लेने लगी | फिर उन्होंने मुझे किचिन से रूम में ले आये और मुझे बेड पर लेटा कर मेरे शॉर्ट्स को भी उतार दिया और पेंटी भी एक झलक में ही उतार दी | अब मैं पूरी नंगी हों चुकी थी और उन्होंने मेरी टांगो को फैलाया और मेरी चिकनी चूत में अपनी जीभ लगा कर चाटने लगे तो मैं आअहाआ ऊउम्म्म्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अआहा आआहा ऊउम्म्ह ऊउंह आहा हाआआअ करते हुए मचलने लगी | मुझे ऐसा लग रहा था कि मैं सातवें आसमान में हूँ | वो मेरी चूत चाटते हुए चूत के दाने को भी चूस रहे थे होंठ में दबा कर और मैं आअहाआ ऊउम्म्म्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अआहा आआहा ऊउम्म्ह ऊउंह आहा हाआआअ करते हुए कसमसा रही थी | फिर उन्होंने अपने कपडे उतारना चालू किये और पूरे नंगे हों गए | उनका लंड देख कर मैं डर गई क्यूंकि उनका लंड काफी बड़ा और मोटा है | उन्होंने मुझे लंड चूसने को कहा तो मैं डर के कारण तुरंत ही लंड को जीभ से चाट कर गीला करने लगी तो वो आअहाआ ऊउम्म्म्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अआहा आआहा ऊउम्म्ह ऊउंह आहा हाआआअ करते हुए मेरे निप्पलस को ऊँगली से दबाने लगे | कुछ देर लंड चाटने के बाद मैंने उनके लंड को अपने मुंह में डाला और चूसने लगी तो वो आअहाआ ऊउम्म्म्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अआहा आआहा ऊउम्म्ह ऊउंह आहा हाआआअ करते हुए मेरे मुंह को चोदने लगे | उनका लंड का सुपाड़ा मोटा है जिस वजह से मेरा मुंह पूरा उनके लंड से ही भर गया था | मैंने उनके लंड को 10 मिनट तक चाटा | फिर उन्होंने मेरी चूत में लंड रगड़ते हुए अन्दर डाल दिए और धीरे धीरे चुदाई करने लगे | मैं आअहाआ ऊउम्म्म्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अआहा आआहा ऊउम्म्ह ऊउंह आहा हाआआअ की सिस्कारियां लेते हुए चुदाई का मजा ले रही थी | कुछ देर बाद उन्होंने चुदाई की रफ़्तार बढ़ा दी और जोर जोर से मेरी चूत को चोदने लगे और मैं आअहाआ ऊउम्म्म्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अआहा आआहा ऊउम्म्ह ऊउंह आहा हाआआअ करते हुए अपनी गांड उठा उठा कर चुदाई में साथ देने लगी | उसके बाद उन्होंने मुझे घोड़ी बनाया और मेरे पीछे आ कर अपना लंड पीछे से डाल कर चोदने लगे तो मैं आअहाआ ऊउम्म्म्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अआहा आआहा ऊउम्म्ह ऊउंह आहा हाआआअ करते हुए अपनी गांड आगे पीछे करते हुए चुदवा रही थी | वो जोर जोर से शॉट मारते हुए चोद रहे थे और दूध भी मसल रहे थे और मैं आअहाआ ऊउम्म्म्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अआहा आआहा ऊउम्म्ह ऊउंह आहा हाआआअ करते हुए सिस्कारिया ले रही थी | 20 मिनट चुदाई करने के बाद उन्होंने अपना वीर्य मेरी गांड के ऊपर ही निकाल दिए | उसके बाद आज भी मैं रोज उनसे चुद्वाती हूँ |

तो दोस्तों ये थी मेरी कहानी | मैं उम्मीद करती हूँ कि आप लोगो को मेरी ये कहानी पसंद आई होगी |

Check Also

माँ को डॉक्टर ने चोदकर खुश किया – Hindi Kamukta Full Sex Story

प्रेषक : आकाश … हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम आकाश है, मेरे घर में हम चार …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please Enable JavaScript!
Mohon Aktifkan Javascript![ Enable JavaScript ]